महिलाओं को सेक्स में कैसे मिलता है चरम सुख

1. अपने एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने कहा है कि यौन चरम सुख (वैजाइनल ऑर्गेज्म) जैसी कोई चीज नहीं होती है

2. उनका कहना है कि वास्तव में महिला को सुख पहुंचाने में भग शिश्न (क्लिटरिस) की अहम भूमिका होती है

3. वैज्ञानिकों का यहां तक कहना है कि चरम सुख जैसी कोई चीज नहीं होती है

4. इसे काल्पनिक बातों के आधार पर महिलाओं की सेक्स समस्याओं का नाम दिया गया है

5. उनका कहना है कि जी स्पॉट, वैजाइनल अथवा क्लिटरल ऑर्गेज्म्स जैसे सभी शब्द गलत हैं

6. मेल ऑनलाइन में मैडलन डैविस लिखती हैं कि जिस तरह से पुरुष चरमसुख होता है, ठीक उसी तरह से महिला चरमसुख होता है और इसी तरह से समझा जाना चाहिए

7. इन वैज्ञानिकों का यहां तक कहना है कि दुनिया में कहीं भी गहराई तक जाने वाले या सेक्स (पेनिट्रेटिव सेक्स) के दौरान महिलाएं चरम सुख का अनुभव नहीं करती हैं

8. उनका कहना है कि महिलाओं के चरम सुख के स्रोत उनका भग शिश्न (क्लिटरिस) और इसके आसपास के इरेक्टल टिशूज हैं

9. इसलिए अगर सभी महिला इरेक्टल ऑर्गन्स (उत्तेजक अंगों) को प्रभावी तरीके से उत्तेजित किया जाता है तो सभी महिलाओं को चरम सुख की अनुभूति होती है

10. पहले के अध्ययनों में महिला के चरम सुख को पाने के मामले में क्लिटरिस (भग शिश्न) की स्थिति और आकार को अहम नहीं पाया गया था

11. इसी तरह वजाइना (योनि) से जितनी दूर और जितना छोटा भग शिश्न होगा, महिलाओं को चरम सुख की अनुभूति करने में उतनी ही दिक्कत होगी

12. हालांकि वर्षों तक यह कहा जाता रहा है कि महिलाओं को चरम सुख की अनुभूति सेक्स या फोरप्ले के जरिए होती है

13. लेकिन नई रिसर्च ने साबित कर दिया है कि हम सभी गलत सोचते रहे हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि वजाइनल ऑर्गेज्म (योनिक चरम सुख), क्लिटरल ऑर्गेज्म या फिर जी स्पॉट जैसी कोई बात नहीं होती है

14. सारी दुनिया में महिलाएं के सभी प्रकार के चरम सुखों का केन्द्र उनका क्लिटरिस (भग शिश्न) होता है

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + six =